Breaking News
Home / राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय

राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय

एयरपोर्ट के कार्यों में तेजी लाने के उद्देश्य से आच्छादित किसानों के साथ कलेक्ट्रेट में की बैठक

गौतमबुद्धनगर जिलाधिकारी गौतम बुद्ध नगर बीएन सिंह के द्वारा जेवर ग्रीन फील्ड इंटरनेशनल एयरपोर्ट के कार्य में गतिशीलता लाने के उद्देश्य से निरंतर रूप से कार्रवाई प्रस्तावित की जा रही है। इस क्रम में आज जिलाधिकारी श्री सिंह ने कलेक्ट्रेट के सभागार में जेवर एयरपोर्ट से आच्छादित किसानों के साथ एक महत्वपूर्ण बैठक करते हुए कहा कि क्षेत्र के लिए यह बहुत ही महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट है। अतः सभी किसान इसकी महत्ता को समझें और इस महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट को आगे बढ़ाने में जिला प्रशासन को अपना सहयोग प्रदान करें। जिलाधिकारी ने कहा कि जेवर एयरपोर्ट स्थापना में धारा 15 की कार्रवाई 2 माह के अंतर्गत किए जाने का प्रावधान है। अगर किसान चाहे तो यह कार्य तेजी से संपन्न हो सकता है और 2 माह से इसकी अवधि एक माह हो सकती है। इस संदर्भ में सभी किसानों के द्वारा जिलाधिकारी को आश्वस्त किया कि उनकी ओर से सहमति प्रदान की
अतः संबंधित अधिकारियों के द्वारा इस संबंध में कार्रवाई सुनिश्चित कर ली जाए। जिलाधिकारी बीएन सिंह ने इस अवसर पर कहा कि जेवर एयरपोर्ट के निर्माण में जिन किसानों की भूमि जा रही है जिला प्रशासन उनके साथ निरंतर रूप से खड़ा हुआ है, और उनके विस्थापन में उनके बच्चों की शिक्षा में, उनके बच्चों की नौकरी लगाने में जिला प्रशासन की ओर से विशेष प्रयास सुनिश्चित किए जा रहे हैं। इस कार्य में जनपद की औद्योगिक इकाइयां तथा बिल्डर्स एसोसिएशन अन्य संस्थाएं आगे आ रही हैं। आयोजित महत्वपूर्ण बैठक में आईसीआईसीआई बैंक के

अधिकारियों ने जेवर एयरपोर्ट में विस्थापित किसानों के बच्चों के स्किल डेवलपमेंट करते हुए उनकी नौकरी लगाने के लिए कैंप आयोजित करने के संदर्भ में अपनी स्वीकृति प्रदान की है और उनके द्वारा गांव में जाकर कैंप लगाया जाएगा। इसी प्रकार एमएसएमई के द्वारा भी विस्थापित परिवारों को सहयोग प्रदान करने के लिए आश्वस्त किया गया है और सभी के द्वारा जिला अधिकारी को लिखित रूप में सहयोग प्रदान करने के लिए कहा गया है। जिलाधिकारी बीएन सिंह ने इस अवसर पर कहा कि जिला प्रशासन के अधिकारियों द्वारा सभी किसानों का पूर्ण सहयोग प्रदान किया जाएगा और उन्हें ऑफिस नहीं आना पड़ेगा उनके घर पर ही सभी कार्यवाही अधिकारियों के द्वारा पूर्ण की जाएंगी। जिलाधिकारी ने सभी विभागीय अधिकारियों को प्रत्येक स्तर पर किसानों को सहयोग प्रदान करने के निर्देश भी दिए। आयोजित महत्वपूर्ण बैठक में अपर जिलाधिकारी भूमि अध्याप्ति बलराम सिंह, उप जिला अधिकारी जेवर प्रसून द्विवेदी, जेवर एयरपोर्ट के प्रभारी अधिकारी अभय कुमार सिंह, डिप्टी कलेक्टर पीएल मौर्य तथा अन्य संबंधित अधिकारीगण तथा किसानों के द्वारा भाग लिया गया।

इंटीग्रल कोच फैक्ट्री चेन्नई में तैयार यह ट्रेन मेक इन इंडिया’की सफलता का उदाहरण है

नई दिल्‍ली। देश की आधुनिक ट्रेन-18 दिल्ली पहुंच गई है। ट्रायल के लिए मुरादाबाद जाएगी। इंटीग्रल कोच फैक्ट्री चेन्नई में तैयार यह ट्रेन ‘मेक इन इंडिया’ की सफलता का उदाहरण है। इसे रिकॉर्ड समय और कम लागत में तैयार किया गया है। इस ट्रेन में अलग से इंजन लगाने की जरूरत नहीं है। यह ट्रेन इस समय रेलवे के शोध संस्थान अनुसंधान अभिकल्प एवं मानक संगठन (आरडीएसओ) के अधीन है और इसके अधिकारी ही आधुनिक मशीनों व तकनीक के माध्यम से इस गाड़ी का परीक्षण करेंगे।इन ट्रेनों को राजधानी शताब्दी की जगह पर चलाने की योजना है।ट्रेन-18 का पहला ट्रायल मुरादाबाद से सहारनपुर के बीच करीब 100 किलोमीटर के ट्रैक पर होगा। टी-18 में यात्रियों की जगह पर रेत भरी बोरियां रख कर ट्रायल होगा। ट्रेन की ब्रेक, सुरक्षा एवं संरक्षा सहित सभी तकनीकी पहलुओं की जांच के बाद इस ट्रेन को रेलवे संरक्षा आयुक्त के पास भेजा जाएगा।
ट्रेन-18 ट्रेन में 16 कोच हैं। प्रत्येक चार कोच एक सेट में हैं। ट्रेन सेट होने के चलते इस ट्रेन के दोनों ओर इंजन हैं। इंजन भी मेट्रो की तरह छोटे से हिस्से में हैं। ऐसे में इंजन के साथ ही बचे हिस्से में 44 यात्रियों के बैठने की जगह है। इस तरह से इसमें ज्यादा यात्री सफर कर सकेंगे।
ट्रेन 18 शताब्दी ट्रेन की तुलना में 15 फीसद से अधिक समय बचाएगी। इसकी रफ्तार का ट्रायल दिल्ली से मथुरा जाने वाले रूट पर होगा। इस रूट पर ही अब तक देश की सबसे तेज ट्रेन गतिमान एक्सप्रेस भी चलती है। इस आधुनिक ट्रेन को अधिकतम 160 किलोमीटर प्रति घंटा तक की गति से चलाया जा सकता है
यह 15 से 20 फीसद ऊर्जा बचाएगी और कार्बन फुटप्रिंट का उत्सर्जन भी कम होगा।
Cont for News & Adv.
Face Warta Hindi News magazine & www.todayface.in
Greater Noida UP [India] Dr.Bharat Bhushan Sharma +91 9871493277
email:-sharmaface07@gmail.com

70 से 80 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार चल सकती है -तूफान

चेन्नई से करीब 740 किलोमीटर दूर पूर्व-उत्तर पूर्व में स्थित चक्रवाती तूफान पश्चिम की ओर बढ़ गया है और है भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने यह जानकारी देते हुए मंगलवार को बताया कि तूफान 15 नवंबर की शाम को तमिलनाडु के तटीय क्षेत्र को पार कर सकता है. विभाग के एक बुलेटिन के मुताबिक पश्चिम-दक्षिण पश्चिम की ओर बढ़ सकता है और अगले 24 घंटे में भीषण तूफान में तब्दील हो सकता है.

बुलेटिन में कहा गया, ‘पश्चिम-दक्षिण पश्चिम की ओर बढ़ते समय यह धीरे-धीरे कमजोर हो सकता है और 15 नवंबर की शाम को चक्रवाती तूफान के रूप में पम्बान तथा कुड्डलूर के बीच में से तमिलनाडु के तटीय क्षेत्र को पार कर सकता है.’इसमें कहा गया कि इसकी वजह से उत्तर तटीय तमिलनाडु और उससे लगे दक्षिण तटीय तमिलनाडु एवं आंध्र प्रदेश के जिलों में 14 नवंबर की शाम से भारी बारिश हो सकती है.
70 से 80 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार चल सकती हैं और पश्चिम-मध्य तथा पास में लगे पूर्व-मध्य और दक्षिण बंगाल की खाड़ी के ऊपर 90 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार पकड़ सकता है. इसके अनुसार हवाएं धीरे-धीरे 90-100 किलोमीटर प्रति घंटे की गति और फिर 110 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार पकड़ सकती हैं.
तूफान की वजह से समुद्र में करीब एक मीटर ऊंची लहरें उठ सकती हैं जिनसे नागपट्टिनम, तंजौर, पुडुकोट्टई और रामनाथपुरम जिलों में निचले इलाके डूब सकते हैं. मछुआरों को 13 से 15 नवंबर के बीच मध्य और दक्षिण बंगाल की खाड़ी में नहीं जाने की सलाह दी गई है. तमिलनाडु सरकार ने अपने अधिकारियों को अलर्ट किया है बचावकर्मियों को तैयार कर रखा गया है.

Cont for News & Adv.
Face Warta Hindi News magazine & www.todayface.in
Greater Noida UP [India] Dr.Bharat Bhushan Sharma +91 9871493277
email:-sharmaface07@gmail.com

भारत में बाल दिवस मनाने की शुरुआत

नई दिल्ली: 14 नवंबर 1889 को उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद में जन्मे जवाहरलाल नेहरू को बच्चों से खासा लगाव था और बच्चे उन्हें ‘चाचा नेहरू’ कहकर पुकारते थे. नेहरू बच्चों को देश का भविष्य बताते थे. वो कहते थे कि ये जरूरी है कि बच्चों को प्यार दिया जाए, उनकी देखभल की जाए ताकि वे अपने पैरों पर खड़े हो सकें
पंडित जवाहर लाल नेहरू का जन्‍म 14 नवंबर को हुआ था. देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित नेहरू के जन्मदिन को देश भर में बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है. उन्‍हें बच्चों से बहुत प्यार था. . नेहरू कहते थेबच्चे देश का भविष्य है इसलिए ये जरूरी है कि उन्हें प्यार दिया जाए और उनकी देखभाल की जाए जिससे वे अपने पैरों पर खड़े हो सकें. बाल दिवस के दिन स्कूलों में तरह-तरह के रंगारंग कार्यक्रमों, मेलों और ढेर सारी प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाता है.

इस दिन स्‍कूलों में बच्‍चों के बीच मिठाई और टॉफियां बांटी जाती हैं. कई जगह बच्‍चों को गिफ्ट भी दिए जाते हैं.
भारत में हर साल 14 नवंबर को बड़े ही उत्साह के साथ बाल दिवस मनाया जाता है. बच्चों के प्रति जवाहर लाल नेहरू के प्यार और लगाव को देखते हुए उनके जन्मदिन को बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है. 27 मई 1964 को पंडित जवाहर लाल नेहरु के निधन के बाद बच्चों के प्रति उनके प्यार को देखते हुए सर्वसम्मति से यह फैसला हुआ कि अब से हर साल 14 नवंबर को चाचा नेहरू के जन्मदिवस पर बाल दिवस मनाया जाएगा और बाल दिवस कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा.
बाल दिवस साल 1925 से मनाया जाने लगा था, लेकिन यूएन ने 20 नवंबर 1954 को बाल दिवस मनाने की घोषणा की थी. विभिन्न देशों में अलग-अलग तारीखों पर बाल दिवस मनाया जाता है. भारत में बाल दिवस 1964 में प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के निधन के बाद से मनाया जाने लगा. सर्वसहमति से ये फैसला लिया गया कि नेहरू के जन्मदिन पर बाल दिवस मनाया जाएगा.

पासा पलटा और हो गईं चारों खाने चित

पंचकुला (facewarta) रविवार रात पंचकुला में एक रेसलिंग इवेंट के दौरान इंटरनेशनल रेसलर द रेबेल ने राखी सावंत को रिंग में पटक दिया। इसके बाद उनकी कमर में चोट आई है। वैसे, रेसलर ने जो चैलेंज दिया था, वह जनरल चैलेंज था। यह राखी के लिए नहीं था। फिर भी वे राखी रिंग में कूद पड़ीं। उन्होंने वहां रेबेल के साथ डांस और मस्ती भी की
इसी बीच रेसलर रेबेल का मूड बदल गया। रेबेल ने राखी को उठाया और रिंग में पटक दिया। करीब 10 मिनट तक राखी रिंग में ही पड़ी रहीं। इसके बाद दो अन्य रेसलर्स ने उन्हें सहारा दिया। जब रेसलर्स उन्हें बाहर ला रही थीं तो लॉबी में वे उनके सहारे के साथ भी नहीं चल पा रही थीं। वे बीच में ही बैठ गईं। जैसे-तैसे उन्हें हॉस्पिटल पहुंचाया गया। हालांकि, रविवार रात ही ट्रीटमेंट के बाद उन्हें छुट्टी मिल गई और अब वे पंचकुला के ही एक होटल में रह रही हैं।

द ग्रेट खली राखी से मिलने हॉस्पिटल पहुंच गए.
क्या उस फिरंगी रेसलर को पता नहीं था कि आप डांस करने वहां गई थीं, न कि लड़ाई करने. हॉस्पिटल में भर्ती राखी सावंत ने बताया कि उनके साथ धोखा हुआ है. उन्होंने यह भी बताया कि यह कोई फाइट कॉम्पिटिशन नहीं, बल्कि यह एक डांस कॉम्पिटिशन था और डांस के दौरान उनके साथ धोखा हुआ. डांस के नाम पर विदेशी रेसलर ने रिंग के अंदर राखी को उठाकर पटक दिया. फिर भी दर्द से कराहते हुए कहा, ‘मैं थोड़ी ठीक हो जाऊं, फिर रिंग पर उस फिरंगी रेसलर को पकड़कर मारूंगी. उसे किसने भेजा है मुझे मारने के लिए मुझे नहीं मालूम है. रेबल ने मुझ पर हमला किया, मैं उसे जरूर मारूंगी.’ राखी ने कहा, ‘मैं जल्दी ठीक होकर उसे (फिरंगी रेसलर रेबल) मारूंगी… मैं उसे जरूर मारूंगी. मेरा फिजियोथेरेपी किया गया. डॉक्टर ने कमर में पैन किलर्स के इंजेक्शन्स दिए हैं और मुझे नहीं पता आगे क्या होगा? अभी तो मैं हॉस्पिटल में एडमिट हूं. अभी बस मेरा एक ही दिल कर रहा कि मैं उस फिरंगी रेसलर को जाकर मारूं.
Cont for News & Adv.
Face Warta Hindi News magazine & www.todayface.in
Greater Noida UP [India] Dr.Bharat Bhushan Sharma +91 9871493277
email:-sharmaface07@gmail.com

पाक सेना के एडमिन पर हमला, कई आतंकी कैंप भी किए ध्वस्त

जम्मू कश्मीर: भारतीय सेना ने जम्मू कश्मीर के पुंछ जिले के पास एलओसी (LOC) पार पाकिस्तानी ठिकानों पर जोरदार हमला किया है. भारतीय सेना के इस हमले में पाकिस्तान के कई ठिकाने ध्वस्त हो गए. सूत्रों के अनुसार, सेना ने यह हमला बीते 23 अक्टूबर को पुंछ में पाकिस्तान की ओर से हुए मोर्टार हमले के जवाब के रूप में किया. सूत्रों के अनुसार, भारतीय सेना ने पीओके (POK) स्थित आतंकियों के लॉन्चिंग पैड को भी निशाना बनाया है. सेना के इस हमले में आतंकियों के कई लॉन्चिंग पैड भी तबाह हो गए. भारत ने पाकिस्तान पर ऐसा हमला साल 2016 में हुए सर्जिकल स्ट्राइक के बाद किया है. सेना ने उड़ी में आतंकियों द्वारा किए गए हमले का जवाब सर्जिकल स्ट्राइक के रूप में दिया था. बता दें कि जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले में सेना के एक शिविर में मंगलवार (23 अक्टूबर) को एक विस्फोट हुआ था. विस्फोट में हालांकि किसी के हताहत होने की खबर नहीं थी. सीमा से सटे इस जिले के मोती महल में यह विस्फोट सेना की 93वीं ब्रिगेड में सुबह 10 बजकर करीब 45 मिनट पर हुआ था.
श्रीनगर शहर के बाहरी इलाकों में सोमवार को सुरक्षा बलों से कुछ देर मुठभेड़ के बाद तीन आतंकवादियों को गिरफ्तार कर लिया गया। जम्मू एवं कश्मीर पुलिस के प्रवक्ता ने कहा कि कार में जा रहे आतंकवादियों को नरबाल क्षेत्र में एक सुरक्षा चौकी पर रुकने का इशारा किया गया। ‘लेकिन आतंकवादियों ने पुलिस पर गोलीबारी शुरू कर दी। प्रतिक्रियास्वरूप पुलिस ने गोलीबारी कर दी। दोनों तरफ से कुछ देर गोलीबारी चलने के बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया।’ आतंकवादियों के कब्जे से हथियार बरामद हुए हैं।