Breaking News
Home / राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय

राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय

सांसद धर्मेन्द्र कश्यप ने दंगल का किया उदघाटन

बरेली अमल सैनी (facewaeta) बरेली के कांधरपुर में प्रचीन मंदिर पर मेले का आयोजन हर साल की भाँति होता है।बेहतरीन आयोजन करने में आयोजक कोई कसर नहीं छोड़ते। मेले का आयोजन यहाँ के हिन्दूओ की शान है हांँलाकि अन्य समाज के लोग भी मेले में हर सम्भव मदद करते रहे हैं।मैले की खासियत है कि यहाँ दंगल का बडे़ स्थिर पर आयोजन होता है

जिसमें पंजाब हरियाणा, दिल्ली अन्य स्थानों से महिला पहलवान भी आते हैं जो पलक झटक ही पुरूष पहलवान को धूल चटा देती हैं और आज सांसद माननीय धर्मेन्द्र कश्यप ने मुख्य अतिथि के रूप में पहुँच कर मेले की रामलीला व दंगल का उदघाटन किया।मेले में साल की भाँति झूला,डांँस पार्टी,मिठाईयों की दुकान,बच्चों के खिलौनों का दुकान थे।

मेले में क्षेत्रीय विधायक मा. पप्पू भरतौल, शिवचरन कश्यप,प्रधान जीबी पटेल आदि लोग मौजूद थे

राष्ट्रीय क्षत्रिय जनसंसद का गठन सम्पन्न

दिल्ली(Facewarta) रफी मार्ग स्थित कॉन्सटिटयूशनल क्लब ऑफ इंडिया मे देश के सभी क्षत्रिय सामाजिक संगठनों ने मिलकर सर्वसम्मति से राष्ट्रीय क्षत्रिय जनसंसद का गठन सम्पन्न किया। जिसमें सम्पूर्ण देश में, महाराष्ट्र, तमिलनाडू, कर्नाटक, मध्यप्रदेश, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, दिल्ली प्रदेश, बिहार, छत्तीसगढ़, जम्मू कश्मीर, उत्तर प्रदेश, पंजाब, झारखंड, गुजरात आदि प्रदेशों में चल रहे सामाजिक क्षत्रिय संगठनों के नेतृत्वकर्ताओं ने हिस्सा लिया। नए राष्ट्रीय क्षत्रिय संसद के गठन के दौरान, देश मे सभी संगठन के नेतृत्वकर्ताओं को संचालन समिति में शामिल किया गया व फिलहाल 151 जनसांसदों का संबंधित संसदीय क्षेत्र से सर्वसम्मति से चयन किया गया। देश मे बाकी संसदीय क्षेत्रों के जनसांसदों की घोषणा भी जल्द ही की जाएगी।
नए क्षत्रिय संसद के गठन का मुख्य उद्देश्य सर्व राजपूत समाज को एकता के सूत्र में बांधना है। देशहित व समाजहित से सम्बंधित अधिकांश निर्णय व सुझाव इसी संसद से पारित होंगे जो सम्पूर्ण राजपूत समाज व अन्य सहयोगी समाज जिनकी राजपूत समाज सहयोग और रक्षा करता रहा है, के लिए मान्य हो सकते हैं। फिर चाहे पारित होने वाला आदेश, हरिजन कानून, आरक्षण, अयोध्या का राम मंदिर या देश मे होने वाले चुनाव के दौरान किसी राजनीतिक दल को वोट देने से संबंधित हो या अन्य कोई भी सामाजिक हित मे हो।सरकार द्वारा चलाई जा रही सवर्ण समाज विरोधी नीतियों का भी 2019 के चुनाव में “जैसे को तैसा” नीति अपनाकर कठोर जबाब दिया जाएगा।

उपस्थित सभी संचालन समिति में अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के कुंवर अजय सिंह, राष्ट्रीय अध्यक्ष राजा राजेन्द्र सिंह, करनी सेना के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी व महासचिव सूरजपाल अम्मूजी, पूर्व आईएएस सूर्य प्रताप सिंह, राकेश चौहान महासचिव अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा , कुंवर हरदेव सिंह, पूर्व आईजी बद्री प्रसाद सिंह, ठाकुर विक्रम सिंह, संजय सिंह राणा हिमाचल प्रदेश, कैप्टन विक्रम सिंह, ठाकुर विनय सिंह असम, सुप्रीमकोर्ट के प्रख्यात वकील एपी सिंह, आदि अनेक गणमान्य व्यक्तियों को शामिल किया गया। वहीं जनसांसदों में गौतम बुद्ध नगर लोकसभा क्षेत्र से राजपूत उत्थान सभा के पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष ठाकुर धीरज सिंह व दिल्ली उत्तरपूर्वी जिला से दुष्यंत सिंह व 149 अन्य गणमान्य व्यक्तियों को जनसांसद चयनित कर उनकी घोषणा की गई। देश के सभी क्षत्रिय सामाजिक संगठनों ने मिलकर सर्वसम्मति से राष्ट्रीय क्षत्रिय जनसंसद का गठन सम्पन्न किया। जिसमें सम्पूर्ण देश में, महाराष्ट्र, तमिलनाडू, कर्नाटक, मध्यप्रदेश, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, दिल्ली प्रदेश, बिहार, छत्तीसगढ़, जम्मू कश्मीर, उत्तर प्रदेश, पंजाब, झारखंड, गुजरात आदि प्रदेशों में चल रहे सामाजिक क्षत्रिय संगठनों के नेतृत्वकर्ताओं ने हिस्सा लिया। नए राष्ट्रीय क्षत्रिय संसद के गठन के दौरान, देश मे सभी संगठन के नेतृत्वकर्ताओं को संचालन समिति में शामिल किया गया व फिलहाल 151 जनसांसदों का संबंधित संसदीय क्षेत्र से सर्वसम्मति से चयन किया गया। देश मे बाकी संसदीय क्षेत्रों के जनसांसदों की घोषणा भी जल्द ही की जाएगी।
नए क्षत्रिय संसद के गठन का मुख्य उद्देश्य सर्व राजपूत समाज को एकता के सूत्र में बांधना है। देशहित व समाजहित से सम्बंधित अधिकांश निर्णय व सुझाव इसी संसद से पारित होंगे जो सम्पूर्ण राजपूत समाज व अन्य सहयोगी समाज जिनकी राजपूत समाज सहयोग और रक्षा करता रहा है, के लिए मान्य हो सकते हैं। फिर चाहे पारित होने वाला आदेश, हरिजन कानून, आरक्षण, अयोध्या का राम मंदिर या देश मे होने वाले चुनाव के दौरान किसी राजनीतिक दल को वोट देने से संबंधित हो या अन्य कोई भी सामाजिक हित मे हो।सरकार द्वारा चलाई जा रही सवर्ण समाज विरोधी नीतियों का भी 2019 के चुनाव में “जैसे को तैसा” नीति अपनाकर कठोर जबाब दिया जाएगा।

उपस्थित सभी संचालन समिति में अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के कुंवर अजय सिंह, राष्ट्रीय अध्यक्ष राजा राजेन्द्र सिंह, करनी सेना के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी व महासचिव सूरजपाल अम्मूजी, पूर्व आईएएस सूर्य प्रताप सिंह, राकेश चौहान महासचिव अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा , कुंवर हरदेव सिंह, पूर्व आईजी बद्री प्रसाद सिंह, ठाकुर विक्रम सिंह, संजय सिंह राणा हिमाचल प्रदेश, कैप्टन विक्रम सिंह, ठाकुर विनय सिंह असम, सुप्रीमकोर्ट के प्रख्यात वकील एपी सिंह, आदि अनेक गणमान्य व्यक्तियों को शामिल किया गया। वहीं जनसांसदों में गौतम बुद्ध नगर लोकसभा क्षेत्र से राजपूत उत्थान सभा के पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष ठाकुर धीरज सिंह व दिल्ली उत्तरपूर्वी जिला से दुष्यंत सिंह व 149 अन्य गणमान्य व्यक्तियों को जनसांसद चयनित कर उनकी घोषणा की गई।

जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह के साथ 26 किसानों के प्रतिनिधिमंडल ने प्रदेश के मुख्यमंत्री जी से समक्ष रखीं अपनी बातें

जेवर जैसा कि विदित ही है कि जेवर एयरपोर्ट से सम्बन्धित प्रभावित परिवारों की 75 प्रतिशत सहमति आने के पश्चात नोएडा इंटरनेशनल ग्रीन फील्ड एयरपोर्ट के निर्माण का रास्ता लगभग साफ हो ही चुका हैं और इस सम्बन्ध में 03 अगस्त 2018 को जनपद गौतमबुद्धनगर के गौतमबुद्ध विश्वविद्यालय में, मा0 मुख्यमंत्री जी से किसानों का एक प्रतिनिधिमंडल मिला था और उससे पूर्व मात्र 04 किसानों ने ही जेवर एयरपोर्ट को बनाये जाने के लिए अपनी सहमति दी थी, लेकिन मा0 मुख्यमंत्री जी के समझाने के बाद किसान आगे आये और सहमति देने का दौर बढ चला। क्षेत्र के स्थानीय विधायक धीरेन्द्र सिंह ने भी घर-घर जाकर, प्रदेश व क्षेत्र के विकास की खातिर किसानों को सहमत किया।

आज दिनांक 19 सितम्बर 2018 को जेवर एयरपोर्ट से सम्बन्धित किसानों ने मा0 मुख्यमंत्री जी को अपनी जमीन के सहमति पत्र सौंपे तथा किसान श्री यशपाल सिंह, संजय सिंह व हंसराज सिंह आदि ने मा0 मुख्यमंत्री जी से कहा कि ’’हम अपनी जमीनें आपके आह्वान पर प्रदेश व क्षेत्र के विकास के लिए दे रहे हैं। न तो हम कोई मांग पत्र लाये हैं और न ही इस वक्त हम आपसे कुछ मांग रहे है, लेकिन इतना जरूर है कि किसानों के कष्टमय जीवन और भविष्य के जीवन यापन व उचित विस्थापन के प्रति हमें आप सुरक्षित करेंगे।’’
मा0 मुख्यमंत्री जी ने लगभग 40 मिनट तक, किसानों से वार्ता करते हुए, उन्हें बताया कि ’’जेवर एयरपोर्ट की योजना पिछले 15 सालों से खटाई में पडी हुई थी, आपके स्थानीय विधायक धीरेन्द्र सिंह जी ने इसका प्रस्ताव डेढ वर्ष पहले मुझे सौंपा। मैंने अधिकारियों से भी वार्ता की, जिनसे ज्ञात हुआ कि यह मामला अब बनना मुश्किल है। इसके बावजूद भी, मैं जेवर में हुई उस गैंगरेप की घटना के कलंक को धोना चाहता था, जिसकी वजह से जेवर का नाम बदनाम हुआ था और इसलिए मैंने सारी बाधाओं को पार करते हुए, भारत सरकार से इस प्रोजेक्ट की मंजूरी जेवर को दिलवाई।’’
मा0 मुख्यमंत्री जी ने आगे कहा कि ’’नोएडा व ग्रेटर नोएडा को पिछली सरकारों में एक बदनाम क्षेत्र के रूप में देखा जाने लगा था। कोई भी उद्योगपति दहशत की वजह से, वहां अपना उद्योग नही लगाना चाहता था। बहुत से उद्योग धंधे गुडगाँव के लिए पलायन कर गये। मारुति कार जैसा भी बडा प्रोजेक्ट, जिससे स्थानीय लोगों को हजारों रोजगार मिलते, नोएडा व ग्रेटर नोएडा के हाथ से फिसल गया। अतः विकास के सही मायने को समझिए और यह सोचिए कि हम अपना जीवन स्तर कैसे उन्नत करें, अपने नौजवान बच्चों के सपनों को कैसे साकार करें और सकारात्मक सोच रखते हुए, किस प्रकार से इस प्रदेश के विकास में भागीदार बनें, तभी हम इस प्रदेश को विकास की बुलंदियों तक पहुॅचा पायेंगे।
अंत में मा0 मुख्यमंत्री जी ने कहा कि ’’आपने एयरपोर्ट बनवाये जाने के लिए सहमति दी, उसके लिए आप सभी धन्यवाद के पात्र हैं। मेरे यहां आपसे वार्ता के दरबाजे खुले हुये हैं। आपकी जो भी जायज मांगें होंगी, विस्थापन की नीतियां होंगी, उन्हें शासन व प्रशासन के साथ बैठकर आपके जनप्रतिनिधि निस्तारित करायेंगे।
आज की इस बैठक में जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह के साथ रोही के प्रधान श्री भगवान सिंह, बनवारीवास के प्रधान श्री त्रिलोकचंद शर्मा के अलावा श्री हंसराज सिंह, पुष्प कुमार शर्मा, योगेन्द्र सिंह छौंकर, संजय कुमार, हरविन्द्र सिंह, विनोद चौहान, सुशील शर्मा, यशपाल सिंह, दरियाब सिंह, जफर खांन, योगजीत सिंह, मौज्जम खांन, तारा सिंह प्रधान जी, योगेन्द्र अत्री, चन्द्रभान सिंह मलिक व कुलदीप सिंह भी मौजूद रहे।
मा0 मुख्यमंत्री जी के साथ किसानों से वार्ता के समय उनके प्रमुख सचिव श्री एस.पी गोयल व यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण के चैयरमैन श्री प्रभात कुमार भी मौजूद रहे।
भारतीय किसान यूनियन का भी एक प्रतिनिधिमंडल जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह व भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश सचिव श्री पवन खटाना के साथ मा0 मुख्यमंत्री जी से मिला, जिससे में श्री सुभाष चैधरी, जीवन सिंह, लाला रजनीकांत, राजे प्रधान व रविन्द्र भाटी आदि लोग मौजूद रहे। इस पर मा0 मुख्यमंत्री जी ने उनकी समस्याओं का निराकरण कराये जाने का पूर्ण आश्वासन दिया।

दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ चुनाव में एबीवीपी को मिली भव्य जीत पर आप सभी को हार्दिक बधाई सत्येंद्र नागर प्रदेश मंत्री भाजपा युवा मोर्चा उत्तर प्रदेश

दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ चुनाव में एबीवीपी को मिली भव्य जीत पर आप सभी को हार्दिक बधाई सत्येंद्र नागर प्रदेश मंत्री भाजपा युवा मोर्चा उत्तर प्रदेश

एयरपोर्ट बनाये जाने के लिए कृषक व भूमिहीन परिवारों को मिलाकर सहमति का आंकडा पहुॅचा 3600 तक

गौतमबुद्ध नगर 1145 हैक्टेयर जमीन की सहमति पत्र आने के पश्चात लगभग 94 प्रतिशत जमीन की सहमति जेवर एयरपोर्ट के लिए प्राप्त हुई
जैसा कि विदित ही है कि कुल 1334 हैक्टेयर जमीन जेवर एयरपोर्ट के प्रथम चरण के लिए प्रस्तावित थी, जिसमें से 116 हैक्टेयर जमीन सरकारी भूमि के तौर पर कागजातों में दर्ज है, इस हिसाब से लगभग 1218 हैक्टेयर जमीन की आवश्यकता थी, जिसमें से आज तक 1145 हैक्टेयर जमीन की सहमति आने के पश्चात अब तक 94 प्रतिशत जमीन के सहमति पत्र प्राप्त हो चुके हैं। इसी प्रकार कृषक व भूमिहीनों को मिलाकर लगभग 3600 लोगों ने एयरपोर्ट बनाये जाने के लिए अपनी सहमति अब तक प्रदान की है।

वही छात्र आगे बढ़ता है जो सुनने और समझने की क्षमता रखता है – पूर्व राष्ट्रपति माननीय श्री प्रणव मुखर्जी

सुदृढ़ भारत के लिए सकारात्मक दृष्टिकोण ज़रूरी
एक सुदृढ़ भारत के लिए युवाओ का सकारात्मक दृष्टिकोण बहुत ज़रूरी है क्योकि आज का छात्र आत्मविश्वास से भरा होता है और उसके अंदर काम करने का जज़्बा ही देश को तरक्की की रह पर ले जाता है यह कहना था भारत के पूर्व राष्ट्रपति माननीय श्री प्रणव मुखर्जी का जो एशियन एजुकेशन ग्रुप में छात्रों को सम्बोधित करने पहुंचे, उन्होंने आगे कहा की वही छात्र आगे बढ़ता है जो सुनने और समझने की क्षमता रखता है और यहाँ जितने भी छात्र है उन्हें मैं सिर्फ यही कहना चाहूंगा की जब भी कोई कार्य करे उसमे अपनी तरक्की के साथ साथ देश हित भी सोचे क्योकि की भारत एक नव निर्माण देश है और उसे अभी और आगे बढ़ना है।

इस अवसर पर संदीप मारवाह ने पूर्व राष्ट्रपति को ‘स्क्रॉल ऑफ ऑनर ‘और स्मृति चिन्ह प्रस्तुत किया और उनका धन्यवाद देते हुए कहा की आज हमारे लिए बड़े गर्व की बात है की आपको सुनने को मिला और आपकी कही हुई एक एक बात मुझे और यहाँ के छात्रों को पूरी ज़िन्दगी याद रहेगी, क्योकि यह सिर्फ बातें नहीं है यह एक पिता द्धारा दी गयी नसीहते है।
एईजी के निदेशक मोहित मारवाह ने एचई के आगमन पर अपना उत्साह व्यक्त करते हुए कहा की छात्रों के लिए यह एक अमूल्य निधि है जिसको सुनकर यह छात्र हमेशा कामयाबी के पथ पर आगे बढ़ेंगे। मारवाह स्टूडियोज के सीईओ अक्षय मारवाह ने कहा की माननीय प्रणव मुखर्जी ने जो दीप प्रज्जवलित किया है वो सदैव हमारे जीवन को प्रकाशित करता रहेगा। इस अवसर पर एईजी के ब्रांडिंग और योजना निदेशक सौरभ शर्मा और एईजी के के एडमिशन डायरेक्टर भी उपस्थित रहे।